आज फिर हद से गुज़र जाने को दिल करता है
आज फिर हद से गुज़र जाने को दिल करता है